जयपुर व बीकानेर में बनेगा स्टेट एक्सीलेंस सेंटर

जयपुर। राष्ट्रीय मानसिक स्वास्थ्य कार्यक्रम के अंतर्गत राजस्थान में मानसिक स्वास्थ्य को प्राथमिकता देते हुये 37 करोड़ की लागत से बीकानेर एवं जयपुर में स्टेट एक्सीलेंस सेंटर‘ स्थापित किये जा रहे हैं। साथ ही वृद्धजनों के मानसिक बीमारियां जैसे- डिमेंसिया आदि के प्रबंधन हेतु मानसिक रोग चिकित्सालय में जियरेट्रिक साइक्टि्रक केयर सेंटर भी प्रारंभ किये जा रहे हैं।

स्वास्थ्य सचिव एवं मिशन निदेशक राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन श्री नवीन जैन ने बताया कि विश्व स्वास्थ्य संगठन ने इस वर्ष विश्व स्वास्थ्य दिवस की थीम ‘डिप्रेशन’ रखी है। उन्होंने बताया कि शारीरिक बीमारियों के साथ ही मानसिक एवं सामाजिक रूप से स्वस्थ होना भी बेहद जरूरी है। भागदौड़ व तनाव से भरी जिंदगी, सामाजिक रूप से अलग होना जैसे किसी न किसी कारण से बच्चे, किशोर, वयस्क, वृद्धजन सभी डिप्रेशन का शिकार हो रहे हैं।

श्री जैन ने बताया कि प्रदेश के सभी जिलों को राष्ट्रीय मानसिक स्वास्थ्य कार्यक्रम में स्वीकृत किया जा चुका है। कार्यक्रम के अंतर्गत जिला स्तर पर मानसिक रोगियों को समुचित उपचार सेवायें प्रदान करने के लिये चिकित्साकर्मियों के साथ प्रबंधकीय स्टाफ को तैनात किया जा रहा है।

मिशन निदेशक ने बताया कि कार्यक्रम के प्रभावी क्रियान्वयन के लिये जिला स्तर पर साईक्रेटिस्ट, क्लिनिकल साईक्लोजिस्ट, साईक्रेट्रिक नर्स, सोश्यल वर्कर, कम्युनिटी नर्स, मानिटरिंग व इवेल्युशन आफिसर के पद स्वीकृत किये जा चुके हैं। साथ ही चिकित्साकर्मियों, मानसिक स्वास्थ्य सेल के कार्मिकों एव एएनएम व आशाओं को भी प्रशिक्षित किया जा रहा है।