जयपुर। राजस्थान सरकार के स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा राज्य के नागरिकों को स्वास्थ्य से सम्बंधित लाभ पहुँचाने के लिए भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना का आरम्भ 13 दिसंबर 2015 को किया गया। योजना के अंतर्गत पात्र परिवारों को निःशुल्क स्वास्थ्य
सेवाएं उपलब्ध करवाई जाती हैं। इस योजना में सरकारी अस्पतालों के साथ-साथ सरकार द्वारा नामजद निजी (प्राइवेट) अस्पतालों में भी ये सेवाएं उपलब्ध करवाई जा रही हैं। इसके लिए न्यू इंडिया इन्शोरेंस कम्पनी से इसका अनुबन्ध किया गया है।
इस योजना का लाभ उन परिवार को मिलेगा जो राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम एवं राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना में पंजीकृत होगा।
इससे पहले राज्य में चल रही योजनाओं में केवल दवाइयां और जांच ही निःशुल्क मिलती थीं, लेकिन अब भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना में जांच, इलाज, डॉक्टर की फीस, ऑपरेशन आदि सब शामिल किये गए हैं। इसके अलावा सरकार द्वारा ओ.पी.डी. व निःशुल्क दवाओं के वितरण की व्यवस्था भी पहले से ज़्यादा बड़े स्तर पर की गई है।
उद्देश्य:
राज्य में स्वास्थ्य में गुणात्मक सुधार लाना।
बीमारी के दौरान आर्थिक सहायता प्रदान करना।
ग्रामीण क्षेत्र में स्वास्थ्य की समस्या दूर करना ।
30 हज़ार से 3 लाख रुपये तक की आर्थिक सहायता:
भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना में प्रत्येक पात्र परिवार को प्रतिवर्ष सामान्य बीमारियों के लिए 30 हज़ार तथा गम्भीर बीमारियों के लिए 3 लाख रुपये का स्वास्थ्य बीमा कवर उपलब्ध करवाया जा रहा है। इसमें अस्पताल में भर्ती के दौरान हुए खर्च के अलावा भर्ती से 7 दिन पहले से 15 दिन बाद तक का खर्च शामिल किया जाता है।
इस योजना के तहत 1715 बीमारियों का मुफ़्त इलाज किया जाता है।