राजस्थान में मुख्यमंत्री निःशुल्क कोचिंग योजना के तहत छात्राआें के लिए 30 प्रतिशत सीटें आरक्षित
  
जयपुर, 21 अप्रेल। सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग द्वारा मुख्यमंत्री निःशुल्क कोचिंग योजनान्तर्गत आईआईटी, आईआईएम, एवं लॉ के लिए राष्ट्रीय स्तर पर मेडिकल एवं इंजीनियरिंग कॉलेजों में प्रवेश परीक्षा की कोचिंग हेतु विभाग के राजकीय छात्रावासों में आवासरत पात्र विद्यार्थियों से 30 अप्रेल, 2017 तक आवेदन आमंत्रित किये गये हैं।

विभाग के निदेशक श्री रवि जैन ने बताया कि विद्यार्थी राष्ट्रीय स्तर के तकनीकी, मेडिकल एवं विधि पाठ्यक्रम के कक्षा 11 व 12वीं तथा आईआईएम के लिए स्नातक, स्नातकोत्तर कक्षा में नियमित रूप से अध्ययनरत होना चाहिये। उन्होंने बताया कि अभ्यर्थी के अभिभावक की सकल वार्षिक आय 2.50 लाख से अधिक नहीं होनी चाहिये। मेडिकल एवं इंजीनियरिंग के पाठ्यक्रमों की प्रवेश परीक्षा के लिए दो साल व विधि एवं आईआईएम के पाठ्यक्रमों के प्रवेश परीक्षाओं की तैयारी के लिए एक वर्ष के लिए कोचिंग सुविधा देय होगी ।

श्री जैन ने बताया कि कोटा एवं जयपुर में 500-500 विद्यार्थियाें कुल एक हजार विद्यार्थियों का प्रतिवर्ष चयन किया जायेगा। इसमें से 30 प्रतिशत स्थान सम्बन्धित श्रेणी की छात्राओं के लिए आरक्षित होंगे। छात्रायें नहीं मिलने पर रिक्त स्थानों को उसी वर्ग के छात्रों से भरा जायेगा।उन्होंने बताया कि अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, विशेष पिछड़ा वर्ग, अन्य पिछड़ा वर्ग एवं सामान्य वर्ग के 100-100 विद्यार्थियों को निःशुल्क कोचिंग कराने का निर्धारण किया गया है, जिन्हें कोटा जयपुर के प्रतिष्ठित कोचिंग संस्थानों में कोचिंग कराया जायेगा। निदेशक ने बताया कि आवेदक को निर्धारित प्रपत्र पर आवेदन भरना है जो विभागीय वेबसाइट www.sje.rajasthan.gov पद पर उपलब्ध है।