असली 'मोगली': जब जंगलों में बंदरों के झुंड में दिखी ये लड़की


नई दिल्ली। उत्तरप्रदेश के बहराइच के जंगल से एक अजीबो गरीब मामला सामने आया है। जंगल से पुलिस को 8 साल की एक ऐसी लड़की मिली है जो बंदरों के झुंड में रहती है और बंदर जैसी हरकतें करती है। वो हमारी तरह ना ही बोल पाती है और ना ही खाती है। मोगली के बारे में आप सबने पढ़ा होगा, लेकिन अब असल जिंदगी में एक ऐसा ही किरदार दिखाई दे रहा है।

जानकारी के मुताबिक सबइंस्पेक्टर सुरेश यादव कतर्नियाघाट के जंगल के मोतीपुर रेंज में ड्यूटी पर थे। तभी उनकी नज़र एक लड़की पर पड़ी जो, बंदरों के एक झुंड में रहती थी। बंदर जब एक-दूसरे पर चिल्ला रहे थे तो लड़की भी उन्हीं की तरह नकल कर रही थी, लड़की आम इंसान की तरह ही दिख रही थी। लेकिन वो आम जैसी हरकतें नहीं करती थी।

सुरेश यादव ने बड़ी मुश्किल से बंदरों से लड़की को बाहर निकाला। बंदरों ने उनपर हमला करने की कोशिश की। लड़की भी बंदरों के साथ शामिल हो गई और गुर्राने लगी। हालांकि, पुलिस लड़की को बंदरों के झुंड से निकालने में कामयाब रह। लड़की थोड़ी घायल हो गई थी और उसके बाद उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। पुलिस ने बताया कि लड़की बंदरों के बीच नग्न अवस्था में मिली। उसके बाल और नाखून बढ़े हुए थे और शरीर में चोट लगी हुई थी।