राजस्थान सरकार प्रदेश की महिलाओं को सशक्त एवं आत्मनिर्भर बनाने के लिए बेहतर प्रयास कर रही है। राज्य सरकार के तीन साल पूरे होने पर 19 दिसंबर, 2021 को पारिवारिक स्थिति के कारण जॉब छोड़ने वाली महिलाओं को फिर से रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने के लिए मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने जागृति बैक टू वर्क योजना शुरू की है।

  • योजना के माध्यम से विधवा, तलाकशुदा, परित्यक्ता, हिंसा की शिकार एवं पीड़ित महिलाओं को प्राथमिकता दी जाएगी।
  • स्वयंसेवी संस्था के सहयोग से शुरू हुई इस योजना के लिए पायलट प्रोजेक्ट के रूप मं विधवा, तलाकशुदा वर्ग की महिलाओं से पोर्टल पर आवेदन आमंत्रित किए गए हैं।  
  • योजना से ऐसी महिलाओं को फायदा होगा जो शादी के बाद पारिवारिक कारणों से नौकरी जारी नहीं रख पाती है।
  • कुछ विशेष सेक्टर में महिलाओं के लिए वर्क फ्रॉम होम का विकल्प उपलब्ध करवाया जाएगा।
  • योजना के तहत 3 वर्ष की अवधि में 15 हजार महिलाओं को नौकरी देने का लक्ष्य है।
  • राज्य सरकार द्वारा उन्हें रोजगार के योग्य बनाने के लिए कौशल प्रशिक्षण भी दिया जाएगा।
  • https://jagritibacktowork.org के माध्यम से योजना में रजिस्ट्रेशन करवाया जा सकता है।