उत्तमाशा अन्तरीप-

  • 1486 ई. में पुर्तगाल के नाविक बार्थोलोमियो डियाज ने सम्पूर्ण पश्चिमी अफ्रीका के तट की यात्रा की आथ्र इसी के क्रम में वह दक्षिण अफ्रीका के अन्तरीप तक पहुंचने में सफल रहा।
  • उसने इस अन्तरीप का नाम उत्तमाशा अन्तरीप (Lape of Good Hope) रखा।
  • इसको ‘तूफानों का अन्तरीप’ भी कहते हैं।

अमेरिका -

  • पुर्तगाली नाविकों की सफलता व कुतुबनुमा के आविष्कार ने स्पेन के नाविकों को भी समुद्री यात्राओं के लिए प्रेरित किया।
  • जेनेवा के नाविक क्रिस्टोफर कोलम्बस ने स्पेन के शासक फर्डिनेण्ड के प्रोत्साहन से भारत की खोज के लिए 1492 ई. में यात्रा प्रारम्भ की। वे भारतक की खोज में नई दुनिया (अमेरिका) पहुंच गये।
  • बाद में इटली का नाविक अमेरिगो भी यहां पहुंचा। उसके नाम पर इस स्थान का नाम अमेरिका पड़ा।

न्यूफाउण्डलैण्ड तथा लेब्रोडोर

  • खोज - इंग्लैण्ड के नाविक जॉन कैवेट ने 1497 ई. में, शासक हेनरी सप्तम
  • लेब्रोडोर की खोज कैवेट के पुत्र सेबास्टियन कैवेट ने की।

भारत के समुद्री मार्ग की खोज -

  • वास्कोडिगामा ने जोकि पुर्तगाली था। वह 1498 ई. में कालीकट पहुंचा।

ब्राजील -

  • 1501 ई. में पुर्तगाली नाविक कैबेल ने खोज की।

मैक्सिको एवं पेरू -

  • स्पेनिश नाविक कोर्टिश ने 1519 ई. में मैक्सिको की खोज की।
  • 1531 ई. में पिजारो नामक नाविक ने पेरू को खोज निकालने में सफलता प्राप्त की।

अफ्रीका महाद्वीप -

  • खोज - मार्टन स्टेनली तथा डेविड लिविंग्स्टन

पृथ्वी की प्रथम परिक्रमा

  • फ्रांसिस ड्रेक ने जिसे ‘नाइट’ की उपाधि प्रदान की।
  • फिलीपीन्स द्वीप समूह - मैगलेन ने।