राजस्थान बनेगा हेल्थ अकाउंट्स को संस्थागत करने का प्रयास करने वाला पहला राज्य


क्या है हेल्थ अकाउंट्स  

हेल्थ अकाउंट्स के माध्यम से स्वास्थ्य पर खर्च होने वाली राशि की नियमित ट्रैकिंग और निगरानी की जा सकती है। यह साक्ष्य आधारित नीति निर्माण में महत्वपूर्ण उपकरण के रूप में कार्य कर सकते हैं। हेल्थ अकाउंट्स के माध्यम से फण्ड फ्लो का विस्तृत अध्ययन कर ग्रास रूट लेवल तक हेल्थ सिस्टम को और मजबूत किया जा सकता है। विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा हेल्थ अकाउंट्स के लिए तकनीकी और वित्तीय सहायता उपलब्ध करवाई जाएगी।
 
राजस्थान की स्वास्थ्य क्षेत्र में इन सफलताओं को जारी रखने के लिए ऐसा सिस्टम जरूरी है जो संसाधन आवंटन और व्यय की मॉनिटरिंग में मदद कर सके। इसके लिए राज्य के भीतर हेल्थ अकांउट्स को संस्थागत रूप दिया जा रहा है।  

राज्य सरकार आमजन के स्वास्थ्य को प्राथमिकता प्रदान कर रही है। इसके लिए कुल बजट का 7 प्रतिशत से ज्यादा स्वास्थ्य पर खर्च कर रही है। जो राष्ट्रीय औसत से ज्यादा है। प्रदेश में मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना, मुख्यमंत्री निःशुल्क निरोगी राजस्थान योजना (सभी राजकीय संस्थानों में सभी प्रकार की आईपीडी एवं ओपीडी सेवाएं निःशुल्क) के साथ-साथ हेल्थ सिस्टम को मजबूत करने और हेल्थ के सेक्टर में अन्य नवाचारों के साथ राजस्थान देश में प्रथ-प्रदर्शक राज्य बन रहा है।  

नियुक्ति

राजस्थान राज्य प्रदूषण नियन्त्रण मण्डल, अध्यक्ष


26 मई, 2022
राजस्थान सरकार ने भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारी श्री सुधांश पंत को राजस्थान राज्य प्रदूषण नियंत्रण मण्डल के अध्यक्ष पद पर नियुक्त किया गया है। उनकी यह प्रतिनियुक्ति पदभार ग्रहण करने की तिथि से 3 वर्ष अथवा आगामी आदेश तक प्रभावी रहेगी।