• राजस्थान सरकार के मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत की मंशा है कि प्रदेश में प्रत्येक व्यक्ति निरोगी और खुशहाल हो। इसी सोच के साथ मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने 18 दिसंबर, 2019 को 'निरोगी राजस्थान' अभियान की शुरूआत की। यह अभियान इतना व्यापक और जनकल्याणकारी है कि प्रदेश सरकार ने इसे अपनी फ्लैगशिप योजनाओं में भी सम्मिलित किया है। 
  • इस अभियान का उद्देश्य है कि प्रदेश की जनता स्वस्थ रहे और उन्हें स्वास्थ्य के प्रति जागरूक बनाया जा सके। सरकार ने इस अभियान को जन आंदोलन बनाया है ताकि स्वास्थ्य सुविधाओं का लाभ अधिक से अधिक लोगों को मिले। राज्य सरकार की प्राथमिकता है कि प्रदेश स्वास्थ्य के क्षेत्र में देश का अग्रणी राज्य बने।
  • इस अभियान में प्रदेश की जनता को बेहतर चिकित्सा सुविधाएं तो मिल ही रही हैं, साथ ही जनता में स्वास्थ्य के प्रति जागरूकता भी पैदा हो रही है। इस अभियान में इस बात पर भी जोर दिया जा रहा है कि रोगों के उपचार के बजाय ऐसी जीवनशैली अपनाई जाए, जिससे लोग बीमार ही न हो।
  • इस अभियान में जनसंख्या नियंत्रण, महिला स्वास्थ्य, किशोरावस्था स्वास्थ्य, व्यसन रोग (तम्बाकू सेवन), प्रदूषण, खाद्य पदार्थों में मिलावट जैसे सभी स्वास्थ्य संबंधी बिन्दुओं पर फोकस किया जा रहा है। साथ ही, लोगों को मौसमी बीमारियों (संचारी रोग) और जीवनशैली संबंधी बीमारियों (गैर संचारी रोग) से बचाव और निदान के बारे में पूरी जानकारी दी जा रही है। वहीं बच्चों के सम्पूर्ण टीकाकरण, वयस्क टीकाकरण, वृद्धावस्था में स्वास्थ्य की देखभाल (जेरियेट्रिक केयर) आदि के बारे में भी जागरूकता पैदा की जा रही है।  


'शुद्ध के लिए युद्ध'

  • बीमारियों की एक वजह मिलावटी खाद्य वस्तुएं भी हैं। इसी को ध्यान में रखते हुए प्रदेश में समय-समय पर 'शुद्ध के लिए युद्ध' अभियान चलाया जाता है। इस सघन अभियान में खाद्य पदार्थों में मिलावट की पहचान की जाती है और मिलावट करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाती है।


80 हजार स्वास्थ्य मित्र

  • सरकार इस अभियान को सफल बनाने के लिए हर गांव में एक महिला एवं एक पुरुष 'स्वास्थ्य मित्र' को नियुक्त करेगी, जो गांव के लोगों को बीमारियों से बचाव के बारे में जागरूक बनाएगा। इसके लिए करीब 80 हजार स्वास्थ्य मित्रों की नियुक्ति प्रक्रियाधीन है।  


जनता क्लिनिक

  • लोगों को घर के नजदीक ही बेहतर चिकित्सा उपलब्ध करवाने के लिए 'जनता क्लिनिक' भी खोले जा चुके हैं। प्रथम जनता क्लिनिक का उद्घाटन मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने 18 दिसंबर, 2019 को जयपुर के वाल्मीकि नगर में किया। प्रदेश के शहरी क्षेत्रों में करीब 500 जनता क्लिनिक खोले जाने का लक्ष्य रखा गया है।
  • प्रदेश सरकार ने आमजन के स्वास्थ्य के लिए न केवल मुख्यमंत्री निःशुल्क दवा योजना, मुख्यमंत्री निःशुल्क जांच योजनाओं का दायरा बढ़ाया है बल्कि इसे जन आंदोलन बनाने के लिए 'निरोगी राजस्थान' अभियान से जोड़ दिया है। इस अभियान से लोगों को स्वास्थ्य योजनाओं का लाभ तो मिल ही रहा है, साथ ही उन्हें सेहत के प्रति जागरूक भी किया जा रहा है।