राजस्थान एमएसएमई नीति-2022


  • 17 सितंबर, 2022 को राज्य के सकल घरेलू उत्पाद के साथ-साथ निर्यात में एमएसएमई के योगदान को बढ़ाने के लिए एक अनुकूल पारिस्थितिकी तंत्र सुनिश्चित करने के लिए एवं अनुकूल नियामक वातावरण के साथ वित्तीय और तकनीकी सहायता प्रदान करने हेतु राजस्थान एमएसएमई नीति-2022 जारी की गई। 
  • इस नीति में 10 हजार करोड़ रुपये के संचयी निवेश और 1,00,000 व्यक्तियों के लिए रोजगार सृजन के साथ 20,000 नई एमएसएमई इकाइयां स्थापित करने की परिकल्पना की गई है। 
  • नीति में शून्य दोष शून्य प्रभाव प्रमाणन प्राप्त करने के लिए 9,000 एमएसएमई उद्यमों को सुविधा देना प्रस्तावित है। 
  • राज्य सरकार की सुगम नीतियों के चलते पिछले 3 वर्षों में राजस्थान में निर्यात 40 प्रतिशत से अधिक बढ़ा है। 
  • प्रदेश में एक जिला-एक उत्पाद को बढ़ाने पर व्यापक स्तर पर काम किया जा रहा है।
  • देश की जीडीपी में 30 प्रतिशत हिस्सा एमएसएमई क्षेत्र से आता है। 
  • इन्वेस्ट राजस्थान समिट में 11 लाख करोड़ रुपये के निवेश समझौते हो चुके हैं।