मोबाइल इंवेस्टिगेशन यूनिट


मोबाइल इंवेस्टिगेशन यूनिट से प्रदेश की कानून व्यवस्था को मिलेगी मजबूती, अनुसंधान में बचेगा समय  


मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने 04 अप्रैल, 2022 को सचिवालय परिसर से राजस्थान पुलिस की मोबाइल इंवेस्टिगेशन यूनिट वैनों (एमयूआई) को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया।

पुलिस आधुनिकीकरण योजना वर्ष 2021-22 में एमआईयू के लिए 9 करोड़ 97 लाख 50 हजार रुपये की प्रशासनिक एवं वित्तीय स्वीकृति राज्य सरकार द्वारा दी गई है। करीब 71 एमआईयू वैन पुलिस को सौंपी जाएगी। इनमें से अभी तक 48 एमआईयू पुलिस को प्राप्त हो चुकी हैं।

मोबाइल इंवेस्टिगेशन यूनिट  वैन उपलब्ध होने से जांध अधिकारी त्वरित गति से मौके पर पहुंच सकेंगे और गैजेट्स की मदद से मौके पर ही अनुसंधान किया जा सकेगा।
इससे गवाहों को बुलाना नहीं पड़ेगा और जांच का औसत समय कम होने के साथ ही इंवेस्टिगेशन क्वालिटी में भी सुधार आयेगा।
ये वैन जिला मुख्यालय से दूर स्थित थानों में उपयोग में लाई जाएंगी। इनके सहयोग से दूरस्थ स्थानों पर होने वाली घटनाओं में त्वरित कार्यवाही की जा सकेगी और अनुसंधान में लगने वाला समय भी बचेगा।