• इंग्लैण्ड में क्रिकेट का महाकुंभ चल रहा है और सेमीफाइनल की स्थिति साफ होती जा रही है। अब देखना है किसके सिर सजेगा यह ताज। 
  • क्रिकेट में बल्लेबाज के बल्ले से बरसते रनों से जहां दर्शक झूम उठते हैं वहीं कम स्कोर बनने पर गेंदबाज से यही उम्मीद लगाई जाती है कि वह अधिक से अधिक विकेट लेकर टीम को जीताए। 
  • यही हुआ भारत और अफगानिस्तान के मैच में, जहां भारतीय बल्लेबाज बड़ा स्कोर खड़ा करने में नाकाम रहे वहीं गेंदबाजों ने न केवल भारतीय टीम को जीताया, बल्कि मोहम्मद शमी ने इस विश्व कप के पहले ही मैच में हैट्रिक बनाकर इतिहास रच दिया है। वह ऐसा करने वाले चेतन शर्मा के बाद दूसरे भारतीय बन गए हैं और मौजूदा विश्व कप के पहले गेंदबाज।

आइए, जानते हैं विश्व कप में गेंदबाजों के हैट्रिक का सफर...

  1. विश्व कप की पहली हैट्रिक भारतीय गेंदबाज चेतन शर्मा के नाम रही। उन्होंने वर्ष 1987 के विश्व कप में न्यूजीलैण्ड के खिलाफ यह कारनामा किया। चेतन ने अपनी हैट्रिक के दौरान नागपुर में केन रदरफोर्ड, इयान स्मिथ और इवेन चैटफील्ड के विकेट लेकर दुनिया के पहले गेंदबाज बने।  
  2. उनके बाद यह कारनामा पाकिस्तान के स्पिनर गेंदबाज सकलैन मुश्ताक ने वर्ष 1999 में जिम्बाब्वे के खिलाफ दोहराया। उन्होंने हैनरी ओलंगा, एडम हकल और पोमी मबांगवे को पवैलियन भेजा।
  3. श्रीलंका के चामिंडा वास ने वर्ष 2003 में बांग्लादेश के अपनी हैट्रिक पूरी की और दुनिया का ऐसा करने वाले तीसरे गेंदबाज बने। उन्होंने हनन सरकार, मोहम्मद अशरफुल, इहसानुल हक के विकेट चटकाए।
  4. ऑस्ट्रेलिया के ब्रैट ली ने वर्ष 2003 में कीनिया के खिलाफ हैट्रिक ली और वह यह कारनामा करने वाले पहले गैर एशियाई खिलाड़ी बने, क्योंकि उनसे पहले तीनों ही गेंदबाज एशिया महाद्वीप से थे। उन्होंने कैनेडी ओटिनी, ब्रिजेल पटेल और डेविड उबोया का विकेट लेकर अपनी हैट्रिक पूरी की। 
  5. श्रीलंका के तेज गेंदबाज लासिथ मलिंगा ने वर्ष 2007 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ यह कारनामा किया। उन्होंने शॉन पोलक, एंड्रयू हाल और जेक्स कैलिस का विकेट लिया। मलिंगा ने वर्ष 2011 में फिर यह कारनामा कीनिया के खिलाफ दोहराया और लगातार दो विश्व कप में हैट्रिक बनाई और दुनिया के पहले गेंदबाज बने जिसने दो हैट्रिक ली। उन्होंने तन्मय मिश्रा, पीटर ओनगोडो और शेम नगोचे को आउट करके दूसरी हैट्रिक बनाई।
    लासिथ मलिंगा
  6. वेस्टइंडीज के केमर रोच ने वर्ष 2011 में नीदरलैंड्स के खिलाफ हैट्रिक पूरी की। उन्होंने पीटर सीलर, बर्नार्ड लूट्स, बेन्ड वेस्टडिज्क का विकेट लिया। 
  7. इंग्लैण्ड के स्टीवन फिन ने वर्ष 2015 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ हैट्रिक बनाई। उन्होंने ब्रैड हैडिन, ग्लैन मैक्सवेल मिशेल जॉनसन का विकेट लिया। 
  8. दक्षिण अफ्रीका के जेपी डुमिनी 2015 ने श्रीलंका के खिलाफ अपनी हैट्रिक बनाई। उन्होंने एंजेलो मैथ्यू, नुवान कुलसेकरा, थारिंदू कौशल का विकेट लेकर यह कारनामा किया।
  9. भारत की ओर से हैट्रिक पूरी करने वाले दूसरे गेंदबाज मोहम्मद शमी बने। उन्होंने मौजूदा विश्व कप 2019 में अफगानिस्तान के खिलाफ यह कारनामा दोहराते हुए मोहम्मद नबी, आफताब आलम और मुजीब उर रहमान का विकेट लिया।
  10. न्यूजीलैंड के ट्रेंट बोल्ट ने ऑस्ट्रेलियाई पारी के आखिरी ओवर में हैट्रिक ली। उन्होंने उस्मान ख्वाजा, मिशेल स्टार्क और जेसन बेहरेनडॉर्फ को आउट किया। वह विश्व कप में हैट्रिक लेने वाले न्यूजीलैंड के पहले गेंदबाज बन गए हैं। यह विश्व कप की दूसरी हैट्रिक है।