1. गरीब छात्र-छात्राओं की मदद के लिए केंद्र सरकार ने प्रधानमंत्री विद्या लक्ष्मी योजना लागू की है। इसके तहत विद्यार्थी लोन लेकर आगे की पढ़ाई पूरी कर सकता है। इसे सेंट्रल स्कीम टू प्रोवाइड इंटरेस्ट सब्सिडी (CSIS) कहते हैं। आप देश में उच्च शिक्षा लेना चाहते हैं तो बैंक आपको 10 लाख रुपए तक लोन देंगे। विदेश में एडमिशन होने पर 20 लाख रुपए तक का लोन मिल सकता है।
  2. लोन और स्कॉलरशिप से जुड़ी शिकायतें भी इस पोर्टल पर की जा सकती हैं। अब तक देश के 13 राष्ट्रीयकृत बैंकों ने इस पोर्टल पर एजुकेशन लोन के 22 तरह के प्लान पंजीकृत कर रखे हैं।
  3. आप अपनी पसंद का प्लान चुन सकते हैं। ब्याज दर की जानकारी के लिए बैंक जाकर पता कर सकते हैं। 16 से 35 साल के बीच की उम्र वाले स्टूडेंट्स को ही लोन मिलेगा।
  4. 4 लाख तक के लोन पर सिक्योरिटी जरूरी नहीं 
  5. अगर आप 4 लाख रुपए तक के एजुकेशन लोन के लिए आवेदन करते हैं तो यह लोन आपको माता-पिता के साथ संयुक्त रूप से मिलेगा। हां, इसके लिए किसी प्रकार की सिक्योरिटी जमा कराने की जरूरत नहीं होती।
यहां गारंटर जरूरी : 
  1. यदि 4 से 6.5 लाख रु. के बीच लोन लेते हैं तो आपको किसी तीसरे व्यक्ति की गारंटी देनी पड़ेगी। यदि लोन की रकम 6.5 लाख रुपए से अधिक है तो बैंक आपको कोई
  2. संपत्ति बंधक रखने के लिए कह सकता है।

एजुकेशन लोन के फायदे

  • अपनी जरूरत के हिसाब से लोन ले सकते हैं।
  • छात्रों को भटकना न पड़े, इसलिए एक ही प्लेटफार्म पर सभी औपचारिकताएं पूरी की जाती हैं।
  • इस राशि से आप कॉलेज या यूनिवर्सिटी की जमा राशि, लायब्रेरी फीस, बिल्डिंग डिपॉजिट,
  • लैब-ट्यूशन-परीक्षा और हॉस्टल की फीस।
  • किताब/ड्रेस/उपकरण खरीदने के लिए पैसे और यात्रा आदि पर आने वाले खर्च को चुका सकते हैं।
  • कोर्स पूरा होने के बाद बैंक आपको लोन चुकाने के लिए पांच से सात साल का समय देते हैं।

पोर्टल पर अन्य सुविधाएं

  • छात्र-छात्राओं के लिए सवाल एवं शिकायत सुनने हेतु ईमेल सुविधा।
  • योजना के तहत लोन आवेदन की स्थिति देखने के लिए डैशबोर्ड सुविधा।
  • बैंकों के लिए लोन प्रक्रिया की मौजूदा स्थिति अपलोड करने की सुविधा।
  • सरकार द्वारा देशभर के छात्र-छात्राओं की सूचना एवं योजनाओं में आवेदन के लिए राष्ट्रीय
  • छात्रवृत्ति पोर्टल को इससे जोड़ना।
  • सभी बैंकों में एक प्लेटफाॅर्मसे एजुकेशन लोन के लिए आवेदन करने की सुविधा। इन बातों का ध्यान रखें
  • अपने परिवार की वित्तीय स्थिति को ध्यान में रखकर ही लोन लेने का फैसला करें।
  • लोन समय पर न चुकाया तो आपके साथआपके माता-पिता भी बैंक के डिफाॅल्टर की सूची में आ जाएंगे।
  • अगर आप कमजोर वर्गसे आते हैं तो सरकारी बैंक से ही लोन लें। इसमें ब्याज सब्सिडी की सरकारी योजना का लाभ आपको मिल सकता है।
  • लोन की राशि हर सेमेस्टर की शुरुआत में सीधे शैक्षणिक संस्थान के पास पहुंचती है। आपको ध्यान रखना होगा कि इसमें कॉलेज/यूनिवर्सिटी के सभी खर्च कवर हो जाएं। 

इन दस्तावेजों की जरूरत पड़ेगी

  • आवेदन के साथ आईडी प्रूफ (आधार, वोटर आईडी, पैन कार्ड)। 
  • पासपोर्टसाइज फोटो।
  • एड्रेस प्रूफ (आधार, वोटर आईडी या बिजली बिल)
  • माता-पिता का आय प्रमाण-पत्र।
  • हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की मार्कशीट की फोटो कॉपी।

 जिस संस्थान में आप पढ़ाई करने जा रहेहैं, उसका एडमिशन लेटर और पाठ्यक्रम की अवधि के प्रूफ के साथ ही खर्च का विवरण दिखाना होगा। बैंक अपनी प्रक्रिया पूरी करेगा, उसके बाद ही लोन देगा।