हाल ही में राजस्थान ग्रामीण आजीविका विकास परिषद् के निदेशक ने राजस्थान में सर्व-महिला-संचालित सहकारी बैंक स्थापित करने के लिए किस राज्य के स्त्री निधि के प्रबंध निदेशक के साथ समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए हैं?

1. तेलंगाना
2. आन्ध्रप्रदेश
3. तमिलनाडु
4. गुजरात
उत्तर- 1

25 जुलाई, 2022 को राजस्थान में प्रदेश का पहला और देश का तीसरा 'महिला वित्तीय संस्थान' स्थापित करने के लिए ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज मंत्री श्री रमेश चन्द मीणा की उपस्थिति में राजस्थान ग्रामीण आजीविका विकास परिषद् एवं स्त्रीनिधि तेलंगाना के मध्य एमओयू पर हस्ताक्षर किए गए।

एमओयू पर राजीविका की ओर से राज्य मिशन निदेशक श्रीमती मंजू राजपाल एवं तेलंगाना की ओर से स्त्रीनिधि के एमडी श्री जी. विद्यासागर रेड्डी ने हस्ताक्षर किए।

महिला निधि की स्थापना से राजीविका के स्वयं सहायता समूहों की महिलाओं के आर्थिक सशक्तीकरण को बल मिलेगा और उन्हें अपने उद्यम के लिए ऋण प्राप्त करने में सहूलियत होगी। बैंकों में लम्बित ऋण आवेदनों की संख्या में भी कमी आएगी।

राजस्थान महिला निधि की स्थापना राज्य स्तरीय सहकारी वित्तीय संस्था के रूप में राजीविका के माध्यम से की जा रही है। राजीविका के क्लस्टर लेवल फैडरेशन इसके सदस्य होंगे। निधि को पहले साल 15 जिलों में प्रारंभ किया जाएगा, जिसमें करौली, अलवर, कोटा, डूंगरपुर, राजसमन्द एवं जोधपुर में इसकी शुरूआत की जा रही है।

महिला निधि के माध्यम से 40 हजार रुपये तक के ऋण 48 घंटे में एवं इससे अधिक राशि के ऋण 15 दिवस की समय सीमा में वितरित हो सकेंगे।