जयपुर, 22 जून। सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग द्वारा संचालित सहयोग एवं उपहार योजना के अंतर्गत वर्ष 2016-17 के दौरान आठ हजार 425 विधवाबी.पी.एल.आस्था कार्डधारियों की कन्याओं की शादियों के लिए 12 करोड़ रुपये से अधिक की आर्थिक सहायता देकर राहत पहुंचाई है।
 

सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री डॉ. अरूण चतुर्वेदी ने बताया कि पात्र अनुसूचित जाति परिवारों की हजार 604कन्याओं की शादी के लिए करोड़ 49 लाख 15 हजारअनुसूचित जनजाति परिवारों की लिए हजार 290कन्याओं हेतु करोड़ 87 लाख हजार रुपये एवं सामान्य वर्ग की हजार 531 कन्याओं की शादियों के लिए करोड़ 67 लाख 25 हजार का अनुदान देकर राहत पहुंचाई है।
 

डॉ. चतुर्वेदी ने बताया कि वर्ष 2017-18 की बजट घोषणा में मुख्यमंत्री ने शादी के लिए दी जाने वाली राशि में बढ़ोत्तरी की है, 1 अप्रेल, 2017 से 18 वर्ष या अधिक आयु की कन्या की शादी के लिए दी जाने वाली राशि को 10 हजार से बढ़ाकर 20 हजारदसवीं पास कन्या की शादी लिए 20 हजार से बढ़ाकर 30 हजार एवं स्नातक कन्या की शादी के लिए 20 हजार से बढ़ाकर 40 हजार रुपये की सहायता दी जा रही है।
 

सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री ने बताया कि राज्य सरकार द्वारा सभी वर्गों के बी.पी.एल. परिवारोंअंत्योदय परिवारोंआस्था कार्डधारी परिवारों की कन्याओं एवं विधवा महिलाओं की 18 वर्ष या उससे  अधिक आयु की अधिकतम दो पुत्रियों के विवाह पर आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है।