छह जिलों में 30 नई ग्राम सेवा सहकारी समितियों का हुआ गठन
 
जयपुर, 22 जून। रजिस्ट्रार, सहकारिता श्री रामनिवास ने गुरूवार को बताया कि नए वित्तीय वर्ष में राज्य के 6 जिलों में 30 नई ग्राम सेवा सहकारी समितियों व बहु उदेश्यीय सहकारी समितियों का गठन किया गया है। इसके लिए स्वीकृति आदेश जारी कर दिए हैं। उन्होंने बताया कि चित्तौडगढ़ जिले में 18, उदयपुर में 5, नागौर, बाडमेर एवं अजमेर में 2-2 तथा चुरू जिले में एक नई पैक्स का गठन किया गया है। 

श्री रामनिवास ने बताया कि चित्तौडगढ़ जिले की 18 नई पैक्स गुडाखेडा, टाई, बडावली, धामंचा, सोमरवालों का खेडा, उंचा, मंगलवाड़, पीराना, रोलाहेडा, रेवलिया खुर्द, करूकडा, लालास, अभयपुर, जलिया, रावडदा, सुखवाडा, कूंथना एवं सादी में, उदयपुर जिले के रेवलिया खुर्द, चित्रावास एवं कमोल में नई पैक्स तथा जोधपुर खुर्द व अटाटिया में नई लैम्पस खोली गई हैं। 

उन्होंने बताया कि इसी प्रकार बाडमेर जिले में बूठ जैतमाल व खारिया तला, नागौर जिले में बाडी घाटी व भैरूंदा, अजमेर जिले में पीपलाज व दौलतपुरा तथा चूरू जिले में भानीसरिया तेज में नई पैक्स का गठन किया गया है। उन्होंने बताया कि इन सभी नई पैक्सों का गठन राज्य सरकार की नीति के अनुसार ग्राम पंचायत मुख्यालयों पर किया गया है। 

रजिस्ट्रार, सहकारिता ने बताया कि नवगठित ग्राम सेवा सहकारी समिति के लिए स्थानीय ग्राम पंचायत प्रथम पांच वर्षों के लिए भवन तथा गोदाम निर्माण के लिए निःशुल्क भूमि भी उपलब्ध कराएगी। उन्होंने बताया कि 6 जिलों के केन्द्रीय सहकारी बैंकों को निर्देश दिए गए हैं कि समिति के गठन के उपरान्त समिति के आर्थिक स्वावलंबन के लिए सदस्यों में 2 से 2.5 करोड़ रुपये का ऋण वितरण किया जाए।